हिमाचल मित्र का शरद अंक 2009

हिमाचल मित्र का शरद अंक 2009 आज मिला! मुंबई से निकले वाली इस पत्रिका की रचनाएँ सदेव ही पाठकों को अपनी और खीच लेती है ! हिमाचल मित्र में हिमाचल से संबधित रचनाकारों की रचनाएँ तो पढने को मिलती ही हा साथ ही हिमाचली संस्कृति का अवलोकन भी हो पता है ! मुझे खास बात इस पत्रिका में जो अच्छी लगाती है वह है हिमाचली धाम का हर अंक में उलेख ! पाठक हिमाचल मित्र के साथ ही पहरी धाम का आनंद उठा सकते है !

साहित्य की हर विधा को हिमाचल मित्र में जगह मिलती है ! हिमाचल मित्र का हर अंक संग्रहणीय होता है !
शरद अंक में कुमार कृषण की कवितायेँ दी गई है वही रेखा से मधुकर भारती की बात चित भी है ये दोनों रचनाकार काव्य और कहानी के क्षेत्र के प्रतिष्ठित हस्ताक्षर है ! अशोक जेरथ जेसे लेखक की रचना हिमाचल मित्र में होना उसे सार्थक कर देता है ! हिमाचल मित्र का उलेख अपने ब्लॉग पर मैं इसलिए कर रहा हूँ की यह पत्रिका साहित्य में रूचि रखने वाले लोगों को ज़रूर पसंद आयेगी ! पत्रिका के पीछे अनूप सेठी सहित उनकी टीम की मेहनत साफ झलकती है ! हिमाचल मित्र की अपनी वेबसईट भी  है जिसका पाठक लाभ उठा सकते हैं !  जबकि ईमेल पर भी पाठक अपनी रूचि हिमाचल मित्र को बता सकते है !

हिमाचल मित्र के फोन नम्बर्स है
09869244269  और 09820696684
हिमाचल मित्र का सम्पादकीय पता है
डी 46 / 16 साईं संगम,
सेक्टर 48 नेरुल
नवी मुंबई 400706

This entry was posted in पत्रिका, सहित्‍य on by .

About रौशन जसवाल विक्षिप्‍त

अपने बारे में कुछ भी खास नहीं है बस आम और साधारण ही है! साहित्य में रुचि है! पढ लेता हूं कभी कभार लिख लेता हूं ! कभी प्रकाशनार्थ भेज भी देता हूं! वैसे 1986से यदाकदा प्रकाशित हो रहा हूं! छिट पुट संकलित और पुरुस्कृत भी हुआ हूं! आकाशवाणी शिमला और दूरदर्शन शिमला से नैमितिक सम्बंध रहा है! सम्‍प्रति : अध्‍यापन

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s