Category Archives: स्वामी रामतीर्थ

साधक

जो प्रशंसा के क्षणों में अपना होश बनाए रख सकता है असल में वही साधक है । — स्‍वामी रामतीर्थ

त्याग

त्याग निश्चय ही आपके बल को बढ़ा देता है आपकी शक्तियों को कई गुना कर देता है आपके पराक्रम को दृढ कर देता है वाही आपको ईश्वर बना देता है ! वह आपकी चिंताएं और भय हर लेता है आप निर्भय तथा आनंदमय हो जाते हैं ! — स्वामी रामतीर्थ