हिमाचल मित्र का वर्षा अंक



हिमाचल मित्र का वर्षा अंक मिला! जे पी सिघंल का आवरण बरबस मुखपृष्ठ को निहारने पर मज़बूर कर देता है! हिमाचल मित्र में प्रकाशित सामग्री पठनीय और संग्रहणीय होती है इसमें कोई दो राय नहीं है! कल्पना की उडान प्रभावित करती है साथ ही कोकस जी का लेख वसुदेव कुटम्बकम की याद दिला देता है! कैलाश आहलुवालिया जी संजोली शिमला महाविद्यालय में मेरे प्राध्यापक रहे है! उन्होने सदैव ही प्रोत्साहित किया है! अंक में प्रकाशित सभी को कहीं ना कहीं पढता रहा हूं! इसी दौरान एस आर हरनोट जी से लम्बे समय के बाद फ़ेस बुक पर सम्पर्क हो पाया यह हिमाचल मित्र का ही सहयोग है! हिमाचल मित्र ने कुछ करने के लिये प्रोत्साहित किया है अन्यथा मैं तो पिछले कई वर्षों से एकांत प्रिय हो गया था! मित्रों की रचनायें पढी तो उनके साथ की यादें ताज़ा हो आई! खैर….. हिमाचल मित्र को साधुवाद! और हां, अनुप जी मे्रा अंक देरी से मिलता है क्या कारण होगा? ज़रा मेरा ध्यान रखें! अगले अंक की प्रतीक्षा में………………… !
Buzz It

This entry was posted in पत्रिका, सहित्‍य on by .

About रौशन जसवाल विक्षिप्‍त

अपने बारे में कुछ भी खास नहीं है बस आम और साधारण ही है! साहित्य में रुचि है! पढ लेता हूं कभी कभार लिख लेता हूं ! कभी प्रकाशनार्थ भेज भी देता हूं! वैसे 1986से यदाकदा प्रकाशित हो रहा हूं! छिट पुट संकलित और पुरुस्कृत भी हुआ हूं! आकाशवाणी शिमला और दूरदर्शन शिमला से नैमितिक सम्बंध रहा है! सम्‍प्रति : अध्‍यापन

3 thoughts on “हिमाचल मित्र का वर्षा अंक

  1. ----- श्रेष्ठ भारत -----

    अति सुंदर है, आवरण ,
    आप सभी देश भक्तो को !
    गणेशजी चतुर्थी की और पर्युषन पर्व की हार्दिक शुभकामनाए, आपके परिवार मे सब सुखी रहे, हर कार्य मंगलकारी हो, और आप कभी अपने कर्तव्य से विमुख ना हो ! यही मेरी भी शुभकामनाए आपके साथ है। भगवान आपकी रक्षा करें

    पसंद करें

  2. Bhushan

    आज आपका ब्लॉग अच्छी तरह से देखा. हम्म् बहुत बढ़िया डिज़ाइन और श्रेणीकरण…जितनी तारीफ़ की जाए उतनी कम है. मेरे ब्लॉग के पहले फॉलोअर बनने के लिए धन्यवाद. मैं भी आपको फॉलो कर रहा हूँ. शुभकामनाएँ.

    पसंद करें

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s